Majboor Shayari – ज़िन्दगी इतनी भी मज़बूर नहीं

ज़िन्दगी इतनी भी मज़बूर नहीं ए दोस्त।
ज़िगर से जियो तो मौत भी जीने की अदा बन जाती है॥

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…