Mausam Shayari – आज कुछ और नहीं बस

आज कुछ और नहीं बस इतना सुनो..
मौसम हसीन है, लेकिन तुम जैसा नहीं..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…