Mausam Shayari – तेरे बगैर इस मौसम में

तेरे बगैर इस मौसम में वो मजा कहाँ..
कांटो की तरह चुभती है, दिल में बारिश की बूंदे..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…