Mehboob Shayari – आज नज़र ने आईने को

आज नज़र ने आईने को यह बोल कर ठोकर मारी,
मुझे खुद की नहीं मेरे मेहबूब की नज़र में संवरना है !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…