Mohabbat Shayari – मुस्कुराने से शुरु और रुलाने पे

मुस्कुराने से शुरु और रुलाने पे खतम..
ये वो ज़ुल्म है जिस्से लोग मुहब्बत कहते है .!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…