Mohabbat Shayari – मेरी हर तलाश तुझ पर आ

मेरी हर तलाश तुझ पर आ कर ही ख़त्म होती है…!!
अब कोई बताये मुझे क्या इससे ज्यादा भी कहीं मोहब्बत होती है…!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *