Mulaqaat Shayari – चंद लम्हे जो मुलाक़ात के

चंद लम्हे जो मुलाक़ात के मिलते हैं कभी,
वो भी अक्सर अदब आदाब में खो जाते हैं..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…