Muskurahat Shayari – लोग कहते हैं कि वक़्त

लोग कहते हैं कि वक़्त किसी का ग़ुलाम नहीं होता,
फिर ‘तेरी मुस्कराहट’ पे वक़्त क्यूँ थम सा जाता है…!!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…