Naraaj Shayari – मेरे यूँ चुप रहने से

मेरे यूँ चुप रहने से नाराज ना हो जाना कभी,
दिल से चाहने वाले तो अकसर खामोश ही रहते है..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…