Nasha Shayari – कभी आवाज में कशिश थी

कभी आवाज में कशिश थी कभी नजरो में नशा था,
फिर जो तेरा असर होने लगा होश मै खोने लगा ..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…