Nazar Shayari – नज़र में रखा नज़र भर के

नज़र में रखा,
नज़र भर के नहीं देखा,
नज़र न लग जाए उसे,
मैंने उसकी तरफ नहीं देखा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…