Barbaad Shayari – किस ने कहा किस से

किस ने कहा, किस से कहा, ये सब कहाँ अब याद है….
दिल ही ज़रा बर्बाद है, बाकी तो सब आबाद है….


loading...

Berukhi Shayari – तेरी बेरूखी ने ये क्या

तेरी बेरूखी ने ये क्या सिला दिया मुझे
ज़हर गम-ए-जुदाई का पिला दिया मुझे
बहुत रोया बहुत तड़पा कई रातों तक मैं
पर तुमने एक कतरा भी आँसू नहीं दिया मुझे

loading…