Qayamat Shayari – तुम नफरत का धरना कयामत

तुम नफरत का धरना कयामत तक जारी रखो,
मैं प्यार का इस्तीफा जिंदगी भर नहीं दूंगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…