Ruthna Manana Shayari – रूठना अगर तुम्हारी आदत है

रूठना अगर तुम्हारी आदत है,
तो तुम्हें मनाना मेरा कर्तव्य है।
तुम हजा़र बार रूठोगी,
तो मैं लाखों बार मनाऊंगा….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…