Sad Hindi Shayari – कितनी अजीब है

कितनी अजीब है मेरे अन्दर की तन्हाई भी ,

हज़ारों अपने हैं मगर, याद तुम ही आते हो..

loading…