Sad Shayari – आज कल सब कहते हैं मैं

आज कल सब कहते हैं, मैं बुझा-बुझा सा रहता हूँ;
अगर जलता रहता तो कब का खाक हो जाता!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *