Safar Shayari – मत पूछिए कि कैसे सफ़र

मत पूछिए कि कैसे सफ़र काट रहे हैं
हर साँस एक सज़ा है मगर काट रहे हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…