Sawan Shayari – मुझे मालूम है तूमनें बहुत

मुझे मालूम है तूमनें बहुत बरसातें देखी है…
मगर मेरी इन्हीं आँखों से सावन हार जाता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…