Shart Shayari – तेरी हसरतों के पंख लगा

तेरी हसरतों के पंख लगा के उड़ता हूँ…
मैं हवा से शर्तं लगा के उड़ता हूँ!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…