Sher O Shayari 2 Lines – है दफ़न मुझमे मेरी कितनी रौनके

है दफ़न मुझमे मेरी कितनी रौनके मत पूछ…
उजड़ उजड़ कर जो बसता रहा वो शहर हूँ मैं….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *