Shiddat Shayari – ग़र तेरी मुहब्बत की शिद्दत

ग़र तेरी मुहब्बत की शिद्दत में असर होता
तुझ को खोने का मेरे दिल में न डर होता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…