Tumhari Yaad Shayari – तुम्हारी याद के जब ज़ख़्म

तुम्हारी याद के जब ज़ख़्म भरने लगते हैं
किसी बहाने तुम्हें याद करने लगते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…