Tumhari Yaad Shayari – बैठे थे अपनी मस्ती में

बैठे थे अपनी मस्ती में कि अचानक तड़प उठे,
आ कर तुम्हारी याद ने अच्छा नहीं किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…