Ulfat Shayari – चुपके से धड़कन में उतर

चुपके से धड़कन में उतर जायेंगे,
राहें उल्फत में हद से गुजर जायेंगे,
आप जो हमें इतना चाहेंगे ऐ ग़ालिब
हम तो आपकी साँसों में पिघल जायेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…