Ulfat Shayari – तुमसे उल्फत के ये तकाज़े

तुमसे उल्फत के ये तकाज़े ना निभाए जाते,,
वरना तम्मन्ना हमे भी खूब थी, कि चाहे जाते !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…