Ulfat Shayari – रुदादे गमे उल्फत उनसे हम

रुदादे गमे उल्फत उनसे, हम क्या कह्ते ,क्यूं कर कहते
एक हर्फ ना निकला होठों से ,और आंख में आंसू आ भी गये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…