Wajood Shayari – हमारी ही रूह को वजूद

हमारी ही रूह को वजूद से जुदा कर गया
एक शक्स ज़िंदगी में आया क़यामत की तरह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…