Zidd Shayari – ना कर जिद अपनी हद में

ना कर जिद, अपनी हद में रह, ए दिल…!!!
वो बड़े लोग हैं, अपनी मर्ज़ी से याद करते है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading…