Zidd Shayari – प्यार रोक टोक ज़िद्द और

प्यार रोक टोक ज़िद्द और बंदिशें नहीं ..
प्यार तड़प बेचैन बेक़रार सी आज़ादी है ..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *