तेरे बिना जीना क्या तेरे बिना जीना क्यों… तुझे कैसे बताऊँ यारा वो ज़िन्दगी है ही नही जो तेरे बगैर गुजरे….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *